कृषि

Goat Breed: 110 से 135 किलो वजन भरता है इस बकरी का, भारत में मुनाफे के लिए है बेहद लोकप्रिय

Goat Breed: पशुपालन करने वाले किसान जानते हैं कि ज्यादा बकरियां पालने से ज्यादा मुनाफा होता है. अगर इसमें भी बकरी की सही नस्ल की पहचान कर उसका पालन किया जाए, तो कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता है. आज हम इस लेख में बकरी की ऐसी ही एक सबसे उन्नत नस्ल के बारे में बात करेंगे.

यह भी पढ़े :- 108MP कैमरे से DSLR जैसी HD फोटो क्लिक करेगा Vivo का शानदार स्मार्टफोन, कम कीमत में मिलेंगे अच्छे स्पेसिफिकेशन्स

खेती के साथ पशुपालन भी आमदनी का जरिया

कृषि के साथ-साथ पशुपालन भी किसानों के लिए आमदनी का मुख्य जरिया होता है. इसमें जहां दूध के लिए गाय और भैंस पाली जाती हैं, वहीं मांस के लिए खासतौर से मुर्गी, बकरी और भेड़ का पालन किया जाता है. आज के समय में कम जमीन में भी अच्छी कमाई करने के लिए किसानों ने पशुपालन को अपना मुख्य व्यवसाय बना लिया है. सबसे खास बात यह है कि इसमें न तो बाजार का इंतजार करना पड़ता है और न ही दूर जाना पड़ता है.

उन्नत नस्ल की बकरी पालें

पशुपालन करने वाले किसान जानते हैं कि ज्यादा बकरियां पालने से ज्यादा मुनाफा होता है. अगर इसमें भी बकरी की सही नस्ल की पहचान कर उसका पालन किया जाए, तो कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता है. आज के इस लेख में हम बात करेंगे बकरी की ऐसी ही एक उन्नत नस्ल के बारे में, जो बहुत कम समय में ज्यादा मुनाफा देती है और बाजार में भी सबसे ज्यादा डिमांड में रहती है.

मीट की कीमत 3,000 रुपये से 3,500 रुपये प्रति किलो तक

हम बात कर रहे हैं दक्षिण अफ्रीकी बोअर बकरी (South African Boer Goat) की. यह नस्ल बकरी की सबसे उन्नत नस्ल मानी जाती है. इस बकरी का मीट खाने वालों के बीच सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है. इसके बेहतरीन मांस के कारण विदेशों में भी इसकी सबसे ज्यादा मांग रहती है. इस बकरी के महत्व का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसकी सप्लाई डिमांड के अनुसार नहीं हो पाती है. कुछ जगहों पर तो इस नस्ल की बकरी की मांग 3,000 रुपये से 3,500 रुपये प्रति किलो तक है.

भारत में भी लोकप्रिय हो रही है ये नस्ल

यह भले ही नाम से विदेशी नस्ल है, लेकिन भारत में भी इस नस्ल की बकरी पालन काफी लोकप्रिय हो गया है. महाराष्ट्र के सांगली, पुणे और कोल्हापुर में किसान इस नस्ल की बकरी पालन करके लाखों रुपये का मुनाफा कमा रहे हैं. इन बकरियों में से ज्यादातर विदेशों में जाती हैं या फिर भारत के सबसे महंगे होटलों में भेजी जाती हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह है इस बकरी की कीमत का बहुत ज्यादा होना.

जानकर चौंक जाएंगे वजन

यह नस्ल अपने लाजवाब मीट के लिए जानी जाती है. इस नस्ल का रंग सफेद होता है और सिर एवं गले का रंग लाल होता है. इसके लंबे कान होते हैं जो नीचे की तरफ झुके रहते हैं. यह तेजी से बढ़ती है और स्वभाव में शांत होती है. एक वयस्क नर बकरी का वजन 110-135 किलो और मादा बकरी का वजन 90-100 किलो तक होता है. नर बकरी की लंबाई 70 सेंटीमीटर और मादा बकरी की लंबाई 50 सेंटीमीटर होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button