Top News

Nautapa: 25 मई से शुरू हो रहा नौतपा, होता है दान का महत्व, यह 4 चीजों का करना चाहिए दान

Nautapa: गर्मियों में सबसे ज्यादा गर्मी पड़ने वाले दिनों को नौतपा कहा जाता है. इन नौ दिनों में सूर्य बहुत तेज होता है और पृथ्वी के सबसे करीब होता है, जिस वजह से जमीन पर भीषण गर्मी पड़ती है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, नौतपा के दौरान कुछ चीजों का दान करना बहुत शुभ माना जाता है. ऐसा करने से ग्रह शांत होते हैं और व्यक्ति को जीवन में शुभ फल प्राप्त होते हैं.

यह भी पढ़े- Bakari Palan Lone: सरकार दे रही बकरी पालन के लिए 25 लाख रुपये तक का लोन, यहाँ करे आवेदन

नौतपा कब से कब तक? (When is Nautapa?)

इस साल नौतपा 25 मई से शुरू होकर 2 जून तक चलेगा. इन नौ दिनों में सूर्य रोहिणी नक्षत्र में होता है. सूर्य की किरणें बहुत तेज होती हैं, जिससे लोगों को काफी परेशानी होती है.

नौतपा में कौन-सी चीजों का दान करें? (What things to donate in Nautapa?)

  1. जल दान (Water Donation): ज्योतिष शास्त्र में जल दान को बहुत पुण्यकारी माना जाता है. नौतपा में जल दान करने से व्यक्ति के पाप कम होते हैं और मन को शांति मिलती है. ज्योतिष के अनुसार, जरूरतमंदों को पानी पिलाने से शुभ फल प्राप्त होते हैं.
  2. दही दान (Curd Donation): हिंदू धर्म में दही को बहुत पवित्र माना जाता है. नौतपा में दही दान करने से व्यक्ति को रोगों से मुक्ति मिलती है और स्वास्थ्य अच्छा रहता है. साथ ही, दही दान करने से धन-समृद्धि में वृद्धि होती है और माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है.
  3. अन्न दान (Food Donation): नौतपा में अन्न दान करना बहुत ही शुभ माना जाता है. ऐसा करने से ग्रह मजबूत होते हैं और माता अन्नपूर्णा का आशीर्वाद मिलता है. अन्न दान करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है और धन-धान्य की कभी कमी नहीं होती.
  4. वस्त्र दान (Clothes Donation): ज्योतिष शास्त्र में वस्त्र दान को शुभ माना जाता है. नौतपा में वस्त्र दान करने से व्यक्ति को परेशानियों से छुटकारा मिलता है और जीवन में खुशहाली आती है.

यह भी पढ़े- युवाओं की धड़कन फिर आ रही Yamaha RX100 वापस, तगड़े फीचर्स के साथ इतनी होइ सकती है कीमत

नौतपा के दौरान दान करने से न सिर्फ जरूरतमंदों की मदद होती है बल्कि ग्रह भी शांत होते हैं और व्यक्ति को जीवन में सुख-समृद्धि प्राप्त होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button