कृषि

Polyhouse Business: पालीहाउस लगाने के लिए सरकार से मिल रही 50% की सब्सिडी, यहाँ चेक करे पूरी प्रोसेस

Polyhouse Business: अच्छी खबर! किसानों के लिए सरकार ने पॉलीहाउस लगाने पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी देने की योजना शुरू की है. इसका मतलब है कि आप पॉलीहाउस लगाने के खर्च का आधा हिस्सा अनुदान के रूप में सरकार से प्राप्त कर सकते हैं. ये योजना राष्ट्रीय बागवानी मिशन के अंतर्गत चलाई जा रही है, जिसका उद्देश्य किसानों को आधुनिक तकनीक अपनाने और उनकी आय बढ़ाने में मदद करना है.

यह भी पढ़े :- मार्केट में खूब मटक रही Maruti की छोटी क्यूट कार, 34km का माइलेज देख हर कोई कर रहा बुक

सरकार से कितना लाभ मिलेगा ?

संरक्षित खेती के जरिये वार्षिक बागवानी विकास योजना के तहत पॉलीहाउस और शेडनेट की मदद से खेती करने पर सरकार किसानों को 50 फीसदी तक की सब्सिडी दे रही है. इसमें किसानों को एक यूनिट लगाने पर 935 रुपये प्रति वर्ग मीटर की लागत में से 50 प्रतिशत यानी 467 रुपये और शेड नेट के लिए 710 रुपये प्रति वर्ग मीटर की लागत में से 50 प्रतिशत यानी 355 रुपये दिए जाएंगे।

पॉलीहाउस सब्सिडी योजना के क्या फायदे हैं?

  • लागत में कमी: सब्सिडी के जरिए आप पॉलीहाउस लगाने के शुरुआती खर्च को कम कर सकते हैं.
  • फसल उत्पादन में वृद्धि: पॉलीहाउस के नियंत्रित वातावरण में फसलें बेहतर तरीके से बढ़ती हैं, जिससे उत्पादकता और गुणवत्ता में वृद्धि होती है.
  • अधिक आय: ज्यादा उत्पादन और अच्छी गुणवत्ता वाली फसलें किसानों को ज्यादा कमाई करने में मदद करती हैं.
  • साल भर खेती: पॉलीहाउस की मदद से आप साल भर खेती कर सकते हैं, जिससे आप अपनी आमदनी के स्रोतों में विविधता ला सकते हैं.

पॉलीहाउस सब्सिडी योजना का लाभ कैसे उठाएं?

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको अपने निकटतम कृषि विज्ञान केंद्र या कृषि विभाग से संपर्क करना होगा.
  • वहां से आपको आवेदन फॉर्म मिल जाएगा, जिसे भरकर आवश्यक दस्तावेजों के साथ जमा करना होगा.
  • संबंधित अधिकारियों द्वारा आपके आवेदन की जांच की जाएगी और पात्र पाए जाने पर आपको सब्सिडी प्रदान की जाएगी.
  • अधिक जानकारी के लिए आप कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट भी देख सकते हैं.

इस सरकारी सब्सिडी का लाभ उठाकर आप कम लागत में आधुनिक खेती की शुरुआत कर सकते हैं और अपनी आय को बढ़ा सकते हैं. देर किस बात की, आज ही अपने निकटतम कृषि विभाग से संपर्क करें!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button