सरकारी योजना

Soil Health Card: क्या है मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड और क्या है इसके फायदे, जानिए ऐसे बनाये इसे

Soil Health Card: देश में कई तरह की योजनाए सरकार द्वारा चलाई जा रही है. ऐसी ही एक योजना है मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड। और हर राज्‍य और केंद्र शासित प्रदेश में इसका संचालन किया जा रहा है.  यह किसानों को अपनी मिट्टी की उर्वरता स्तर का पता लगाने और उचित पोषक तत्व प्रबंधन के लिए सिफारिशें प्राप्त करने में मदद करने के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई एक पहल है।  मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड की मदद से किसान जमीन में पोषक तत्वों की कमी को दूर कर सकते हैं. 

यह भी पढ़े- PM Kisan Yojana 17th Installment : पीएम किसान सम्मान निधि की 17वीं किस्त कब आएँगी?  ऐसे चेक करे स्टेटस

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड का लाभ

  • मिट्टी की उर्वरता में सुधार
  • उचित उर्वरक और पोषक तत्वों का उपयोग
  • फसल उत्पादकता में वृद्धि
  • लागत में कमी
  • पर्यावरण संरक्षण
  • इस योजना के तहत किसानों को एक रिपोर्ट कार्ड भी दिया जाता है

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड के लिए आवशयक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ई-मेल आईडी

यह भी पढ़े- CBSE Recruitment : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में कई पदों पर भर्ती में आवेदन का आखरी दिन आज, ऐसे करे आवेदन

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड ऐसे बनाये

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड बनाने के लिए किसान को सबसे पहले आधिकारिक वेबसाट soilhealth.dac.gov.in पर जाना होंगा। यहाँ पर राज्य का चयन करने के बाद, रजिस्ट्रेशन करे. सभी जानकारियों को भर दे और दस्तावेज अटैच कर दे. इसके बाद आपको एक रजिस्‍ट्रेशन नंबर मिलेगा. अपने गांव का नाम, उप-जिला, जिला, राज्य, नाम और मिट्टी रजिस्‍ट्रेशन नंबर को सेलेक्‍ट करके वो मिट्टी की स्थिति की जांच कर सकते हैं. और इस कार्ड को डाऊनलोड कर के प्रिंट करा सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button